Month: November 2020

Pravachan 29 November 2020Pravachan 29 November 2020

आज के भौतिकता से परिपूर्ण मानव जीवन में मनुष्य जीवन का क्या लक्ष्य है? यदि आजकल के सम्पन्न लोगों के जीवन पर दृष्टि डालें, तो लगता है कि उनके जीवन

Leave your EgoLeave your Ego

अहंकार छोड़िये और सीखना शुरू कीजिए धरती पर जन्म लेने के साथ ही सीखने की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती है ज्यों हम बड़े होते जाते हैं, सीखने की प्रक्रिया भी

Benefits of Hing yani Asafoetida 29 November 2020Benefits of Hing yani Asafoetida 29 November 2020

शक्तिशाली हींगएक हर्बल जादू◆ दांतों में कीड़ा लग जाने पर रात्रि को दांत में हींग दबाकर सोएं। कीड़े खुद-ब-खुद निकल जाएंगे। ◆ यदि शरीर के किसी हिस्से में कांटा चुभ

Sukh, Dukh aur KarmaSukh, Dukh aur Karma

||सुख, दुख और कर्म||〰️〰️🔸〰️🔸〰️〰️प्रत्येक मनुष्य को अपने जीवन में सुख और दुख का सामना करना ही पड़ता है जहां दुख होता है वहां एक दिन सुख की सुबह भी जरूर

Benefits of Gur yani Jaggery in wintersBenefits of Gur yani Jaggery in winters

सर्दी में गुड़ खाने के फायदे : गुड़ को स्वास्थ्य के लिए अमृत कहा गया है इसमें कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, आयरन सहित कई तत्व होते हैं। गुड़ जैसा कि

Sanatan Dharam me kis Devta ke kitne putraSanatan Dharam me kis Devta ke kitne putra

किस देवता के थे कितने और कौन-से पुत्र〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️हिन्दू धर्म में प्राचीनकाल के मानवों में देव (सुर) और दैत्य (असुर) दो तरह के भेद के अलावा और भी कई तरह के

Proper Upbringing of your ChildrenProper Upbringing of your Children

🙏💐🌻🍁🌹🌷🏵️🌺🚩🌸♦️ 🌹 यह सच है कि ‘सही परवरिश’ की कोई एक परिभाषा या कोई एक तरीका नहीं है फिर भी परवरिश के कुछ नुस्खे आपके बच्चे को खुशहाल रखने में

Benefits of Honey 28 November 2020Benefits of Honey 28 November 2020

🐝🐝🧉🐝🐝🧉🐝🐝🧉🌺🐝मधु (शहद)🐝🧉👉वैधकीय सलाह अनुपात जरूरी है वर्ना विष युक्त साबित हो शकता हैं। जय गुरूदेव🌺प्रिय भाई बहनों आज मैं आपको शहद के गुण विशेषता, शुद्ध शहद की पहचान प्रयोग करने

Proper DinnerProper Dinner

रात्रि_भोजन मोटापा व बीमारियों के लिए आमंत्रण हैं चरक संहिता और अष्टांग संग्रह भी रात में खाने से बचने के लिए कहता हैं…क्योंकि उस समय #जठराग्नि, जो खाना पचाने का

Story of Rishi AshtavakraStory of Rishi Ashtavakra

कौन थे ऋषि अष्टावक्र उद्दालक ऋषि के पुत्र का नाम श्‍वेतकेतु था। उद्दालक ऋषि के एक शिष्य का नाम कहोड़ था। कहोड़ को सम्पूर्ण वेदों का ज्ञान देने के पश्‍चात्