Aahar Vihar according to Shit Ritu

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

🌹शीत ऋतू के अपने आहार –विहार

🌹क्या करें✅

🌹१] हरड चूर्ण घी में भूनकर नियमितरुप से लेने तथा भोजन में घी का उपयोग करने से शरीर बलवान होकर दीर्घायुष्य की प्राप्ति होती है |

🌹२] सर्दियों में प्रतिदिन सुबह खाली पेट १५ से २५ ग्राम काले तिल चबाकर खाने व ऊपर से पानी पीने से शरीर पुष्ट होता है व दाँत मृत्युपर्यन्त दृढ़ रहते हैनं |

🌹३] सूर्यकिरणें सर्वरोगनाशक व स्वास्थ्यप्रदायक हैं | रोज सुबह सिर को ढककर ८ मिनट सूर्य की ओर मुख व १० मिनट पीठ करके बैठे |

🌹४] शीतकाल में व्यायाम व योगासन विशेष जरूरी हैं | इन दिनों जठराग्नि बहुत प्रबल रहने से समय पर पाचन-क्षमता अनुरूप उचित मात्रा में आहार लें अन्यथा शरीर को हानि होगी |

🌹क्या न करें❌

🌹१] अति श्रम करनेवाले, दुर्बल, उष्ण प्रकृतिवाले एवं गर्भिणी को तथा रक्त व पित्त दोष में हरड का सेवन नहीं करना चाहिए |

🌹२] तिल और दूध का सेवन एक साथ नहीं करना चाहिए और रात्रि को तिल व तिल के तेल से बनी वस्तुएँ खाना वर्जित है |

🌹३] सूर्यकिरणों में अधिक समय तक सिर को ढके बिना रहना व तेज धुप में बैठना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है |

🌹४] दिन में सोना, देर रात तक जागना, अति ठंड सहन करना, अति उपवास आदि शीत ऋतू में वर्जित है | बहुत ठंडे जल से स्नान नहीं करना चाहिए |

2 thoughts on “Aahar Vihar according to Shit Ritu”

  1. Hi this is kinda of off topic but I was wanting to know if blogs use WYSIWYG editors or if you have to manually code with HTML. I’m starting a blog soon but have no coding skills so I wanted to get advice from someone with experience. Any help would be enormously appreciated!|

  2. I blog quite often and I truly appreciate your information. This great article has really peaked my interest. I am going to take a note of your website and keep checking for new details about once per week. I subscribed to your RSS feed as well.|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 4 =

Related Posts

Vomiting Ayurvedic remedies

Spread the love          Tweet     उल्टियों की आयुर्वेदिक चिकित्सा जब पेट के पदार्थों का पूरे जोश के साथ मुंह और नाक के ज़रिये निष्काशन होता है, तो उस प्रक्रिया को उल्टियों क नाम

Rice detailed information and Uses

Spread the love          Tweet     🍁चावल 🌸परिचय- धान को ओखली में या मशीनों द्वारा पीसकर उसके ऊपर छिल्कों को अलग किया जाता है। बिना छिलके के धान के दानों को चावल कहा जाता

Control your Depression

Spread the love          Tweet     कैसे डिप्रेशन से बाहर निकलें(Depression Management Tips) इस आर्टिकल में:अपने डिप्रेशन को समझना (What is Depression),जिंदगी में सुधार लाना (Lifestyle Changes with Depression),अच्छी आदतों को अपनाएँ, आजकल की