Benefits of Beetroot yani Chukandar 21 November 2020

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

1 चुकंदर खाएं रोजाना,शरीर में पौष्टिक तत्वों की कमी होगीपूरी

  1. चुकंदर का सेवन करने से एनीमिया, कब्ज, माहवारी की समस्या दूर होती है।
  2. चुकंदर का सेवन शरीर में खून की मात्रा बढ़ाता है, इसलिए महिलाओं के लिए ये किसी वरदान से कम नहीं है।
  3. चुकंदर का सेवन सलाद व जूस के रूप में करना काफी फायदेमंद होता है। इसमें आयरन, पोटेशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, विटामिन डी और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं।
  4. आयुर्वेद में बताया गया है कि यह खून तो बढ़ाता ही है, साथ ही पेशाब संबंधी समस्याओं को भी दूर करता है।
  5. चुकंदर में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जिस वजह से ये कब्ज और बवासीर की तकलीफ को दूर करने में सहायक होता है।
  6. चुकंदर का सेवन शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकाल देता है और इस कारण रक्त साफ हो जाता है।
  7. इसे नियमित खाया जाए तो ये शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है।
  8. चुकंदर शरीर में कैल्शियम को बढ़ाता है, जिससे हड्डियां मजबूत होती हैं।
    [: ब्लड प्रेशर को कम करने में भी चुकंदर बहुत लाभकारी है। चुकंदर में नाइट्रेट नामक पोषक तत्व पाया जाता है। यह पोषक तत्व हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। इसलिए आपको भी अगर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो आप चुकंदर का सेवन कर सकते हैं।
    [चुकंदर के फायदे :-

शारीरिक क्षमता में वृद्धि –
चूकंदर के उपयोग से रक्त का संचारण बढ़ता है। ब्लड प्रेशर कम होता है। यह शारीरिक क्षमता को बढ़ाता है , विशेषकर कड़ी मेहनत वाली एक्सरसाइज़ करते समय । यह दौड़ने या साइकिल चलाने की क्षमता में वृद्धि कर सकता है। ये सब फायदे चूकंदर में मौजूद नाइट्रेट के कारण होते है। चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट तत्वो से नाइट्राइट और नाइट्रिक ओक्साइड मिलते है। ये दोनों तत्व रक्त की धमनियों को लचीला और चौड़ा बनाते है। इस कारण ब्लड प्रेशर नहीं बढ़ता। ब्लड प्रेशर पर चूकंदर खाने का प्रभाव जल्दी नजर आता है। धमनियों के चौड़ा होने का फायदा यह भी होता है कि शरीर के प्रत्येक अंग में ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में पहुंचती है। इसके कारण ऊर्जा का स्तर सही बना रहता है। जल्दी थकान नहीं होती है ।

ह्रदय रोग –
चुकंदर में घुलनशील फाइबर प्रचुर मात्रा में होते है। इसमें बीटा सियानिन तथा बेटानिन नामक एंटीऑक्सिडेंट होते है। ये ताकतवर एंटी ऑक्सीडेंट होते है जो नुकसान दायक कोलेस्ट्रॉल LDL को कम करते है तथा इसे धमनियों में जमने नहीं देते । इस तरह ह्रदय रोग से बचाव हो सकता है। चुकंदर का ब्लड प्रेशर को कम करने वाला गुण भी ह्रदय रोग से बचाता है।

खून की कमी –
चूकंदर में भरपूर मात्रा में फोलिक एसिड होता है। फोलिक एसिड की कमी से लाल रक्त कणों में कमी होकर एनीमिया हो सकता है। चूकंदर का रस नियमित कुछ दिन पीने से खून की कमी दूर होकर कमजोरी दूर होती है। फोलिक एसिड गर्भावस्था में बहुत आवश्यक होता है। इसकी कमी से महिला या पेट में पल रहे बच्चे को तकलीफ हो सकती है।

   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − 15 =

Related Posts

Food and 5 Tattvas

Spread the love          Tweet     🍉🍌🍋🍊🍐🍎🍏🍓🔺 भोजन और पांच तत्व आकाश, वायु, अग्नि, जल और पृथ्वी तत्व से शरीर बना है़। यह ब्रह्मण्ड भी यह 5 तत्वों से बना है। आपको यह तत्व के

Pravachan 13 February 2021

Spread the love          Tweet     साथियों, शास्त्रों में नश्वरता को दु:ख का कारण माना गया है, संसार आवागमन, जन्म-मरण और नश्वरता का केंद्र हैं, इस अविद्याकृत प्रपंच से मुक्ति पाना ही मोक्ष है,

Health tips 8 March 2021

Spread the love          Tweet      46 से 50 बीमारियों का कारण है पित्त का बढ़ना, जरूर जानिए इसका उपाय … ✍🏻शरीर में वात-पित्त और कफ का संतुलन आपको स्वस्थ रखता है, लेकिन