Benefits of Pudina yani Mint

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बड़े काम का छोटा पुदीना

1) सलाद में इसका उपयोग स्वास्थ्यवर्धक है। अगर इसकी पत्तियों को रोज चबाया जाए तो दंत रोग, पायरिया, मसूढों से रक्त निकलना आदि रोग दूर हो जाते हैं।
2) एक गिलास पानी में पुदीने की 4-5 पत्तियां उबालें! ठंडा होने पर फ्रिज में रख दें। इस पानी से कुल्ला करने से मुंह की बदबू दूर हो जाती है।
3) पुदीने की बनी चाय पीने से स्‍किन समस्‍या और पेट की सभी समस्‍याएं दूर होती हैं। यह पेट को साफ करता है और त्‍वचा से पिंपल हटाता है।
4) पुदीना कीटाणुनाशक होता है। यदि घर के चारों ओर पुदीने के तेल का छिडकाव कर दिया जाए, तो मक्खी, मच्छर, चींटी आदि कीटाणु भाग जाते हैं।
5) पुदीने की पत्तियों को पीस कर लेप करने से, भाप लेने से, मुहांसे, चेहरे की झाइयों और दागों में लाभ होता है।
6) एक टब में पानी भर कर उसमें कुछ बूंद पुदीने का तेल डालकर यदि उसमें पैर रखे जाएं तो थकान से राहत मिलती है।
7) पुदीने का ताजा रस क्षय रोग, अस्थमा और विभिन्न प्रकार के श्वास रोगों में बहुत लाभकारी है।
8) पानी में नींबू का रस, पुदीना और काला नमक मिलाकर पीने से मलेरिया के बुखार में राहत मिलती है।
9) हकलाहट दूर करने के लिये पुदीने की पत्तियों में काली मिर्च पीस लें तथा सुबह शाम एक चम्मच सेवन करें।
10) हिचकी की शिकायत होने पर इसकी पत्तियों को चूसने से या इसके रस को शहद के साथ लेने से राहत मिलती है।
11) पुदीने की चाय में दो चुटकी नमक मिला कर पीने से खांसी में लाभ मिलता है।

   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + six =

Related Posts

Pravachan 16 April 2020

Spread the love          Tweet     🌷🌻🌷🌻🌷🌻🌷 प्रसंशा मनुष्य को उदार बनाती है। यदि हमारे अंदर दूसरों का मनोबल बढ़ाने की प्रवृत्ति है, अक्सर छोटी – छोटी बातों पर भी दूसरों को सराहने की

Milk and Cinnamon

Spread the love          Tweet     🥛दूध + दालचीनी और 🌷 अनगिनत फायदे🌷 दूध तो हम में से कई लोग पीते है फिर भी लोगो को शिकायत रहती है कि उन्हें दूध पचता नही

Care of eyes 27 August 2020

Spread the love          Tweet     आंखों में रहती है थकान और भारीपन तो ऐसे करें इनकी देखभाल सुबह सूर्योदय से पहले उठें और उठते ही मुंह में पानी भरकर बंद आंखों पर 20-25