Category: Astrology and Vastu

What is Bhagya yani FateWhat is Bhagya yani Fate

भाग्य आखिर है क्या?〰️〰️〰️🌼〰️〰️〰️आज दुनिया में अधिकांश लोग भाग्यवान होने का अर्थ अमीर होना, धनवान होना ही समझते हैं और जिसके पास धन नहीं है वह स्वयं को भाग्यहीन कहकर

Astrology and TridoshAstrology and Tridosh

ज्योतिष में त्रिदोषों का विवरण〰🌼〰🌼〰🌼〰🌼〰ज्योतिष एवं त्रिदोष आयुर्वेद का सबसे महत्वपूर्ण सूत्र यह है कि सभी रोगों का मुख्य कारण शरीर में विदेशी तत्व का संचय है। इन तत्वों के

Astrology work according to NakshatraAstrology work according to Nakshatra

नक्षत्र वर्गीकरण : मुख के आधार पर मुख के आधार पर नक्षत्रों के तीन विभाग है !अधोमुख, उर्ध्वमुख और तिर्यकमुख – अधोमुख :- २ भरणी ,३ कृतिका,९ आश्लेषा, १० मघा,

Ancient Science of Eclipse yani GrahanAncient Science of Eclipse yani Grahan

🌷🌷ऊं ह्लीं पीताम्बरायै नमः🌷🌷🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩ज्योतिर्विज्ञान एवं ज्योतिष शास्त्र🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏(ग्रहण के समय क्यों नहीं खाना खाना चाहिए?) १- सूर्य-यह प्राण तत्व का अधिष्ठाता है यह हमारे जीवन में क्रियाशक्ति- प्राण शक्ति के रूप

Astrology what is RahukalAstrology what is Rahukal

राहुकाल क्या है, राहु काल पर विशेष ।〰〰🌸〰〰🌸〰〰🌸〰〰इसकी गणना कैसे होती है?〰〰🌸〰〰🌸〰〰-समुद्र मंथन के समय जब अमृत कलश लेकर भगवान धन्वंतरि प्रकट हुए तो देवों और दानवों में पहले अमृतपान

Astrology tips on Dishas and PlanetsAstrology tips on Dishas and Planets

दिशाओ पर ग्रहों का आधिपत्य एवं उनके फलाफल पूर्व दिशा- सूर्य पूर्व दिशा का स्वामी है यह पुरुष जाति का सूचक, रक्तवर्ण तथा पित्त प्रकृति वाला ग्रह है| यह आत्मा,

Hindu Calendar based on PanchangHindu Calendar based on Panchang

हिन्दू कैलेंडर पंचांग पर आधारित है। विक्रम संवत इसी पंचांग पर आधारित है। दुनियाभर के वर्तमान में प्रचलित कैलेंडर इसी पर आधारित हैं। आपके लिए एक ऐसी संपूर्ण जानकारी जिसे