Health tips 14 January 2021

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रोग से बचने के लिए

१. कैल्शियम की कमी के लिए भोजन के बाद जीरा, तिल व कढ़ी पत्ता खाये।
२. हार्टअटैक से बचने के लिए अदरक, लहसुन, पीपल पत्ते या अर्जुनारिष्ट लें।
३. बवासीर से बचने के लिए खाली पेट भूपत्री बूटी या पत्थरचट्टा लें।
४. किडनी को बचाने के लिए हरा धनिया खाये।
५. लीवर को बचाने के लिए भूमि आँवला लें।
६. पित्त प्रकोप से बचने के लिए सुबह – शाम आँवला, मिश्री पियें।
७. बालों को बचाने के लिए प्रतिदिन वट जटाएँ, अमरबेल, आँवला, कलौंजी को नारियल तेल में मिलाकर सिर पर लगाये, नाभि में घी लगाये। शैम्पू छोड़े।
८. दाँतों को बचाने के लिए ब्रश, ठंडे पानी छोड़े, अंगुलियों से सरसों तेल, अकरकरा राख, नमक, हल्दी, का मंजन करे।
९. डायबिटीज से बचने के लिए तनावमुक्त, 45 मिनट व्यायाम, 8 घंटे की नींद, व शुद्ध गुड़ खाते रहे।
१०. वेरिकोज, अनिद्रा से बचने के लिए प्रतिदिन तेल मालिश, भोजन बाद अश्वगंधा रिष्ट लें।
११. लकवा से बचने के सोडियम, रात को पानी पीकर सोये।
१२. कैंसर से बचने के लिए सप्ताह में एक उपवास करें व रोज़ाना कढ़ीपत्ते का रस पीते रहें।
१३. जीवन् जीने के लिए प्रातः संगीत गुनगुनाये, ३४० बार ताली बचाये, ११ बार ठहाका लगाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven − 4 =

Related Posts

Remedies for Epilepsy

Spread the love          Tweet     मिर्गी – Epilepsy मिर्गी रोग: लक्षण, कारण और उपायमिर्गी रोग का मुख्‍य कारण तंत्रिका तंत्र है। इसे अपस्‍मार व एपिलेप्‍सी _ Epilepsy भी कहते हैं। 10 से 20

Health tips 14 December 2020

Spread the love          Tweet      हिचकी का रोग : आम के गिरे हुए सूखे पत्तों को जलाकर उनका धुआं सूंघने से हिचकी आना बंद हो जाती है।कच्चे आम की गुठली की गिरी

Benefits of Pudina ka tel or Piperment oil

Spread the love          Tweet     पुदीना के तेल के फायदे पेपरमिंट आयल बहुत ही फायदेमंद और लाभदायक आयल है। इसे पुदीने का तेल भी कहा जाता है। इसमें विटामिन ए और सी पाया