Medicinal uses of Bilva patra

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  • 0
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

☘️बिल्वपत्र के औषधि-प्रयोग

🌻1. बेल के पत्ते पीसकर गुड़ मिलाके गोलियाँ बनाकर खाने से  बिषमज्वर से रक्षा होती है ।

*🌻2. पत्तों के रस में शहद मिलाकर पीने से इन दिनों में होनेवाली सर्दी, खाँसी, बुखार आदि कफजन्य रोगें में लाभ होता है ।*

*🌻3. बारिश में दमे के मरीजों की साँस फूलने लगती है । बेल के पत्तों का काढ़ा इसके लिए लाभदायी है ।*

*🌻4. बरसात में आँख आने की बीमारी ( con-junctivitis ) होने लगती है । बेल के पत्ते पीसकर आँखों पर लेप करने से एवं पत्तों का रस आँखों में डालने से आँखें ठीक हो जाती हैं।*

🌻5. कृमि नष्ट करने के लिए पत्तों का रस पीना पर्याप्त है ।

🌻6. एक चम्मच रस मिलाने से बच्चों के दस्त तुरंत रुक जाते हैं ।

*🌻7. संधिवात में पत्ते गर्म करके बाँधने से सूजन व दर्द में राहत मिलती है ।*

🌻8. बेलपत्र पानी डालकर स्नान करने से वायु का शमन होता है, सात्त्विकता बढ़ती है ।

🌻9. बेलपत्र का रस लगाकर आधे घंटे बाद नहाने से शरीर की दुर्गंध दूर होती है ।

*🌻10. पत्तों के रस में मिश्री मिलाकर पीने से अम्लपित्त (acidity) में आराम मिलता है।*

🌻11. स्त्रियों के अधिक मासिक स्राव व श्वेतस्राव (Leucorrhoea) में बेलपत्र एवं जीरा पीसकर दूध में मिलाकर पीना खूब लाभदायी है । यह प्रयोग पुरुषों में होनेवाले धातुस्राव को भी रोकता है ।

*🌻12. तीन बिल्वपत्र व एक काली मिर्च सुबह चबाकर खाने से और साथ में ताड़ासन व पुल-अप्स करने से कद बढ़ता है । नाटे-ठिंगने बच्चों के लिए यह प्रयोग आशीर्वादरूप है।*

*🌻13. मधुमेह (डायबिटीज) में ताजे बिल्वपत्र अथवा सुखे पत्तों का चूर्ण खाने से मूत्रशर्करा व मूत्रवेग नियंत्रित होता है ।*

🔹बिल्वपत्र-रस की मात्राः 10 से 20 मि.ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 5 =

Related Posts

Remedies for High Blood Pressure

Spread the love          Tweet     High blood pressure घर बैठे करे उच्च रक्तचाप को कंट्रोल। अंग्रेजी दवाई से अगर आप को नुकसान हो रहा है तो जरूर आयुर्वेद को अपनाये। प्रयोग नम्बर १

Knowledge of Makar Sankranti

Spread the love          Tweet     : 🟠🟠🟠🟠🟠🟠🟠🟠🟠🟠🟠🟠 🟣🟣🟣🟣🟣🟣🟣🟣🟣🟣🟣🟣 सूर्य संक्रांति में मकर सक्रांति का महत्व ही अधिक माना गया है। आइए जानते हैं कि मकर संक्रांति के बारे में रोचक तथ्‍य। मकर संक्रांति

Benefits of Bitter Gourd

Spread the love          Tweet     करेला 📚📖आयुर्वेद के मतानुसार करेले पचने में हलके, रुक्ष, स्वाद में कच्चे, पकने पर तीखे एवं उष्णवीर्य होते हैं। करेला रुचिककर, भूखवर्धक, पाचक, पित्तसारक, मूत्रल, कृमिहर, उत्तेजक, ज्वरनाशक,