Remedies for Gas and Viral Fever 27 November 2020

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

: गैस

पेट की गैस की बीमारी यदि पुरानी न हो तो निम्नलिखित पेट की गैस-निवारक चटनी के सेवन से लाभ प्राप्त किया जा सकता है

  1. मुनक्का (बीज निकालकर) 30 ग्राम
  2. अदरक या सौंठ-6 ग्राम,
  3. सौंफ बड़ी-6 ग्राम,
  4. काली मिर्च-3 ग्राम,
  5. अजवायन 3 ग्राम

6.सेंधा नमक – 3 ग्राम (या स्वादानुसार) ।

इन पांचों वस्तुओं को थोड़े पानी में पीसकर चटनी बना लें। इसे दोनों समय भोजन के समय रोटी या दाल चावल के साथ आवश्यकतानुसार 1-2 चम्मच चटनी की भांति चाटें ।

आपको पेट की गैस और पेट खराबी में..


[: वायरल फीवर

की और छोटी सी पेशकश आज कल या जब भी मौसम परिवर्तन होता है

तो परिवार में यह नाम सुनाई देता है कि वायरल फीवर हो गया है और डॉक्टर्स और हॉस्पिटल मैं एक लंबी कतार होती है

इस बीमारी को ठीक करने के लिये और डॉ जांच और कुछ एंटीबायोटिक और साल्ट लेकर हम ठीक होते हो जाते है और जब तक जेब से करीब 500 ₹ तक खर्च हो जाते है ।

और आपकी रसोई घर की ताकत का एक छोटा सा उधारहण नीचे पढ़े।

आज कल वाइरल fever बहुत फैला हुआ है और उसका कोई इलाज भी नहीं है। वाइरस अपना चक्र पूरा करता ही करता है।
इसके लिये आप

1 छोटा चम्मच सादा सफ़ेद नमक को तवे पर तब तक भूनें जब तक ये अपना रंग न बदलने लगे,

रंग बदलते(हल्का भूरा या हल्का सा कालिमा लिए हुए) ही इसे तवे से उतार लें और इसमें तुरंत 1 चम्मच

अजवाइन
भून लें (ध्यान रखें भूनें पर जले न)।

इस मिश्रण को इक ग्लास पानी में घोल कर उसमें इक पूरा नींबू निचोड़ कर पी लें !

एक दिन में ही बुखार छू मंतर होते देखा है !

ये नुस्ख़ा टाइफ़ॉड और मलेरिया में भी उतना ही कारगर है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × one =

Related Posts

Benefits of Jimikand yani Suran

Spread the love          Tweet     🌹जमीकन्द–सूरन🌹 🔹गुणधर्मः सूरन की दो प्रजातियाँ पायी जाती हैं – लाल और सफेद । लाल सूरन को काटने से हाथ में खुजली होती है । यह औषधि में

Increase your Haemoglobin

Spread the love          Tweet     हीमोग्लोबिन , खून की कमी के कारण लक्षण और उपचार : हीमोग्लोबिन की कमी का सबसे प्रमुख कारण पौष्टिक खाने की कमी को ही माना जाता है। खून

Pravachan 30 July 2020

Spread the love          Tweet      साधना, स्वाध्याय, संयम और सेवा मानव जीवन एक अलभ्य अवसर एवं सुरदुर्लभ अवसर है, इसको तुच्छ बातों में बरबाद न करके ऐसा सदुपयोग करना चाहिए जिससे जीवनलक्ष्य