Remedies for Stomach Pain 30 October 2020

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

साधारण कारण से पेट में होने वाले दर्द का घरेलू इलाज

ऐसे साधारण कारण में तुरंत पेट दर्द के लिए होम रेमेडीस स्टमक पेन आप इस्तेमाल कर सकते है|

बदहज़मी और गेस संबंधी स्टमक पेन यानि पेट दर्द के लिए आधा चमच अजवाइन ले और ¼ स्पून हींग और दोनो को फटाफट चबा के खा ले और थोड़ासा गरम पानी पी ले तो देखिए तुरंत राहत मिलेगा|

उपाय स्टमक पेन होम रेमेडीस में से एक यह है की आप जीरा को हल्का सा भुन कर चबा के खा ले और उपर से गरम पानी जिस में थोड़ासा सेंधा नमक मिलाया है वो पी ले|

होम रेमेडीस स्टमक पेन यानि पेट दर्द के लिए अदरक का जूस निकल के शहद के साथ एक दो चमच पी ले|

अगर क़ब्ज़ के कारण दर्द है तो पेट दर्द का घरेलू इलाज है रात को त्रिफला चूरन खा ले|

पेट में गेस हो तो दर्द होता है तो हींग पानी में डाल के पीने से दूर कर सकते है|

पेट दर्द (स्टमक पेन) में एक इलाज है की आप दही के अंदर एक चमच मेथी दाने का पाउडर डाल के तुरंत खा ले|

क़ब्ज़ जटिल हो तो तेज पत्ते का बारीक पाउडर बनाए और इस में हरड़ का पाउडर मिलाए और पानी में डाल के सेवन करे तो क़ब्ज़ संबंधित पेट दर्द की घरेलू दवा है क़ब्ज़ और गेस से सर्द में दर्द भी होता है तो सर दर्द का इलाज ना करवाए, यही नुस्खे अपनाए|

पेट दर्द के घरेलू नुस्खे इन हिन्दी में एक उत्तम उपाय है की आप मूली का रस निकले, जीरा पाउडर और छाछ के साथ मिला के पी ले|

असिडिटी के कारण कई बार दर्द काफ़ी तेज होता है| ऐसे में गिलोय, गुदुची, यष्टिमधु और गुग्गूल का चूरना को मिला के सेवन करे| यह सभी सामग्री ना हो तो जायफल का टुकड़ा मूह में रखे और चूसे| इस से इलाज 5 मिनिट में हो जाएगा| ठीक इसी तरह 5 मिनिट में पेट का दर्द दूर करना है तो पानी में बेकिंग सोडा डाल के पिए|

पेट का दर्द कभी भी किसी को भी हो सकता है, असिडिटी, क़ब्ज़ और गॅस के कारण इस के लिए आप यह चूरन घर पर बना के तैयार रखे: जीरा, काली मिर्च, soonth पाउडर, धनिया पाउडर, कला नमक, अमचूर पाउडर, हींग, सवा बीज पाउडर और सूखा पुदीना का चूरन सभी का पाउडर कर के काला नमक के साथ मिला के रखे और एक चमच ले|

अगर डीहाएडरेशन या लूस मोशन के कारण दर्द है तो पेट दर्द का इलाज है अनार के दाने और अनार के छिलके| अनार दाने का रस निकल के पीए| छिलके को खुल्ले आग पर भुने और पाउडर कर के ले| डीहाएडरेशन या लूस मोशन भी बंद होगा और पेट मे दर्द भी बंद होगा|

पेट दर्द के घरेलू ईलाज में सौंफ एक चमच चीनी के साथ खा ले तो राहत मिलेगी|
पान के अंदर सूखे धनिया, सौंफ, सवा के बीज, अजवाइन के बीज और थोड़ासा शहद मिला के चबा ले तो यह पेट दर्द की घरेलू दवा उत्तम है|

अगर पेट में कृमि हो तो वावडींग, नीम का तेल, तुलसी और काली मिर्च को कूट कर पानी में मिला के पिए तो कृमि के कारण पेट दर्द का इलाज हो जाएगा|

अधिक खाना खा लिया हो तो गुन गुने पानी में नींबू का रस डाले, सौंफ का पाउडर, जीरा पाउडर, काला नमक और अजवाइन पाउडर डाल के पी ले तो भारीपन और दर्द कम होगा|

पेट में दर्द हो तो उपवास रखे| इस के बाद मोसॅंबी का रस ले और मसालेदार, तीखा, तला हुआ भोजन ना करे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − 8 =

Related Posts

What is Sanatan Dharam

Spread the love          Tweet     सनातन धर्म क्या है?????〰〰🌸🌸🌸🌸〰〰‘सनातन’ का अर्थ है – शाश्वत या ‘हमेशा बना रहने वाला’, अर्थात् जिसका न आदि है न अन्त।सनातन धर्म मूलत: भारतीय धर्म है, जो किसी

Mud Therapy

Spread the love          Tweet     मिट्टी के बड़े-बड़े गुण मिट्टी से सेहत व सौन्दर्य शरीर को शीतलता प्रदान करने के लिए मिट्टी-चिकित्सा का उपयोग किया जाता है। मिट्टी, शरीर के दूषित पदार्थों को

Remedies for Paralysis

Spread the love          Tweet     किसी भी तरह के पैरालिसिस (लकवा) को काटते हैं ये प्राकृतिक इलाज आपने देखा होगा कि आपके घर के आसपास कई लोग ऐसे होगे जो जिनके हाथ पैर