Remedies for Swelling in Hands and Feet 10 January 2020

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  • 0
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शीतकालीन हाथ-पांव में सूजन

औषधि:


१-पुनरनवा मंडूर बटी
२-कैशोर गुगुल बटी
३- आरोग्य बरधनी बटी
(धूतपापेश्वर या बैधनाथ की ही लें)
२-२गोली तीनो बटी
सुबह सायं गर्म दूध में हल्दी पाउडर १/२चम्मच
मिला कर सेवन करें
नियमित रूप से जाड़े
तक नियमित रूप से सेवन करें।
४-चुकंदर+खीरा+गाजर+
टमाटर का सूप या सलाद
एक बड़ा बाउल सुबह सायं नित्य प्रति लें।
लगाने के लिए


नारियल के तेल में कपूर मिलाकर सुबह-शाम लगा ए , मालिश करें।
२-महालाक्षादि तैल बैधनाथ की ले और इसमें
तिल का तेल मिलाकर
मालिश करें।
सावधानी:
*
गर्म पानी में नमक मिला कर, हाथ पांव धुले।
जुराब काटन के मोटे वाले
पहने।
विटामिन सी लें।
नीम्बू पानी लें।
धूप सेंकने से लाभ होता है।
*”अलसी का आटा सिंघाड़े का आटा मिलाकर रोटी बनाएं“*

    

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − one =

Related Posts

Benefits of Atis

Spread the love          Tweet     अतीस के लाभविभिन्न भाषाओं में नाम :अंग्रेजी इंडियन ऐटिससंस्कृत अतिविशा, विश्वा, शुक्लकन्दाहिंदी . अतीसगुजराती अतबखनी, कलीबखमो, अतिविषमराठी अतिविषबंगाली आतईचपंजाबी अतीस, चितीजड़ी,बतीसफारसी बज्जीतुरकीतेलगू अतिविषा, अतिबासाअतीस के पेड़ भारत में

Jalebi

Spread the love          Tweet     जलेबी जलेबी यह शब्द वैदिक साइंस पेज पर सुनकर थोड़ा सा अचंभित होना स्वभाविक है किन्तु वास्तविकता यह है कि जलेबी हमारी संस्कृति का हिस्सा है जो की

The Shubh 5

Spread the love          Tweet     5 की संख्या इसलिए है इतनी शुभ पंचामृत से लेकर पंचमेवा तक का महत्व पंचदेव :सूर्य, गणेश, शिव, शक्ति और विष्णु ये पंचदेव कहलाते हैं। सूर्य की दो