Science of Sharad Purnima and Kheer

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

🌹शरद पूर्णिमा के दिन क्यों खाते हैं खीर, जानिए 5 कारण🌹
💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐
⭕शरद पूर्णिमा के दिन खीर खाने या दूध पीने के प्रचलन हैं। आखिर इस दिन खीर क्यों खाते हैं? क्या है इसका वैज्ञानिक कारण और रहस्य जानिए 5 कारण।

🚩1. अमृत की किरणें :- कहते हैं कि इस दिन आसमान से अमृतमयी किरणों का आगमन होता है। इन किरणों में कई तरह के रोग नष्ट करने की क्षमता होती है। ऐसे में जहां इन किरणों से बाहरी शरीर को लाभ मिलता है वहीं शरीर के भीतर के अंगों को भी लाभ मिले इसके लिए खीर को चंद्रमा की रोशनी में रखकर बाद में उसे खाया जाता है। यही कारण है कि शरद पूर्णिमा की रात को लोग अपने घरों की छतों पर खीर रखते हैं।

🚩2. अमृत समान बन जाता है दूध :- यह भी कहा जाता है कि इस दौरान चंद्र से जुड़ी हर वस्तु जाग्रत हो जाती है। दूध भी चंद्र से जुड़ा होने ने कारण अमृत समान बन जाता है जिसकी खीर बनाकर उसे चंद्रप्रकाश में रखा जाता है।

🚩3. शीत ऋतु का आगमन :- शरद पूर्णिमा से मौसम में परिवर्तन की शुरूआत होती है। इस तिथि के बाद से वातावरण में ठंडक बढ़ने लगती है। शीत ऋतु का आगमन होता है। शरद पूर्णिमा की रात में खीर का सेवन करना इस बात का प्रतीक है कि शीत ऋतु में हमें गर्म पदार्थों का सेवन करना चाहिए, क्योंकि इन्हीं चीजों से ठंड में शक्ति मिलती है।

🚩4. पौष्टिक पदार्थ का सेवन :- खीर में दूध, चावल, सूखे मेवे आदि पौष्टिक चीजें डाली डाती हैं, जो कि शरीर के लिए फायदेमंद होती हैं। इन चीजों की वजह से शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। अच्छा स्वास्थ्य मिलता है। यहीं खीर जब पूर्णिमा को बनाकर खाई जाए तो उसका गुण दोगुना हो जाता है।

🚩5. खीर की प्रसाद का वितरण :- यह भी मान्यता है कि पूर्णिमा के दिन दूध या खीर का प्रसाद वितरण करने से जहां चंद्रदोष दूर हो जाता है वहीं लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। इसीलिए कुछ स्थानों पर सार्वजनिक रूप से खीर प्रसादी का वितरण किया जाता है।
💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 1 =

Related Posts

Safety from radiation

Spread the love          Tweet     मान्यवर रेडिएशन व अन्य खतरनाक वायरसों से सुरक्षा बेहद आसान व सस्ता उपाय। पूराने जमाने मे गांव के लोग अपने घरों की जमीन दिवार चूल्हा सब कुछ गोबर

Ayurvedic kadhe

Spread the love          Tweet     आयुर्वेदिक काढ़े आयुर्वेदिक दवाओं की जानकारी के अंतर्गत इस बार हम आयुर्वेदिक काढ़े की जानकारी दे रहे हैं। दशमूल काढ़ा : विषम ज्वर, मोतीझरा, निमोनिया का बुखार, प्रसूति

Tulsi with Milk

Spread the love          Tweet     🛑उबलतें दूध में जब डाली जाती हैं तुलसी की पतियाँ तो होता है चमत्कार – Tulsi with Milk †* घरेलू नुस्खे बिना किसी साइड इफेक्ट के कई बीमारियों