Tips for Opening your Vrat yani Fast

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उपवास खोलते समय रखें 8 बातों का ध्यान

व्रत-उपवास करने के सभी के अपने तरीके हैं। कोई निराहार-निर्जल व्रत करता है तो कोई एक समय भोजन करता है। व्रत कोई भी हो, लेकिन इसे समाप्त कर भोजन ग्रहण करते समय आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए, ताकि स्वास्थ संबंधी परेशानी न हो। जानिए 8 जरूरी टिप्स –

1 एक बार में अधिक भोजन करने से बचें। घंटों तक खाली पेट रहने के बाद एकदम से पेट भरकर खाने से न केवल पेट दर्द की समस्या हो सकती है, बल्कि पाचन में भी परेशानी हो सकती है।

2 लंबे समय तक खाली पेट रहने के बाद पहले सिर्फ एक गिलास पानी पीना ही बेहतर होगा, ताकि पेट में ठंडक पहुंचे, और बाद में होने वाली पाचन संबंधी समस्याओं से बचा जा सके।

3 आप चाहें तो नींबू पानी, लस्सी, नारियल पानी य फिर मौसंबी का जूस ले सकते हैं। इससे आपको उर्जा महसूस होगी, और यह आपके पाचन तंत्र की कार्यप्रणाली को भी ठीक करने में सहायक होंगे।

4 व्रत के बाद प्रोटीन से भरपूर आहार लेने का प्रयास करें, आपके शरीर में उर्जा की पूर्ति करने में मदद करेगा। इसके लिए आप कुछ समय रूककर, पनीर व्यंजन या अंकुरित आहार ले सकती हैं।

5 उपवास के बाद तेल मसाले भोजन से बचने की कोशिश करें। मिठाईयों और तले हुए व्यंजनों से दूरी बनाए रखें, ताकि आपके पाचन तंत्र पर अधिक दबाव न पड़े, और स्वास्थ्य भी सही हो।

6 आप अगर चाहें तो मिले जुले आटे की रोटी बना सकते हैं। सब्जियों में लौकी, गिल्की, कद्दू, टमाटर, भिंडी, दाल व दही जैसे पाचक व हल्की चीजें ले सकते हैं। दिनभर उपवास के बाद आपका पाचनतंत्र इसे आसानी से पचा सकेगा।

7 आप चाहें तो दही के साथ फलों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसके अलावा फ्रूट चाट भी एक बेहतरीन विकल्प है, जो आपका पेट भी भरेगा और शरीर को उर्जा भी देगा।

8 मिले जुले आटे से बना उपमा भी आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। यह पौष्टिक भी होगा और पाचक भी। लेकिन ध्यान रखें कि व्रत के बाद जो भी खाएं वह कम मात्रा में ही खाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + five =

Related Posts

Definition of Bhagwan

Spread the love          Tweet     भगवान की परिभाषा क्या है, भगवान किसे कहते है? भगवान् शब्द बनता हैं, भग + वान्। इसमें “भग” धातु है। भग धातु का ६ अर्थ है:- १. पूर्ण

Harms of Maida yani refined wheat flour

Spread the love          Tweet     मैदा स्वस्थ के लिए हानि कारक। मैदे से बनी कई चीजों का सेवन हम करते रहते हैं। हम सभी के किचन में मैदा होता है। मैदे से बनी

Very nice Life Tips

Spread the love          Tweet     हेल्थ टिप्स,किचन टिप्स,मोटिवेशन टिप्स प्राथमिक चिकित्सा क्या है किसी भी प्रकार की चोट लगने के बाद प्राथमिक चिकित्सा बेहद आवश्यक होती है। अस्पताल ले जाने से पहले या