Category: shivling

Bhagwan Shiv PoojanBhagwan Shiv Poojan

भगवान शिव के पार्थिव पूजन की सरल विधि बतायेगें!!!!!!!!!! कलियुग में पार्थिव शिवलिंगों की पूजा करोड़ों यज्ञों का फल देने वाली मानी गयी है । भगवान शिव का किसी पवित्र

Some Information about Bhagwan ShivSome Information about Bhagwan Shiv

जाने भगवान शिव से जुड़ी रोचक बातें?〰〰🌸〰〰🌸〰〰🌸〰〰भगवान शिव त्रिमूर्ति में से एक हैं। अन्य दो भगवान विश्व रचयिता बह्मा तथा संरक्षक देवता विष्णु हैं। शिव को विनाशक माना जाता है।

Bhagwan Shiv dharan karte hainBhagwan Shiv dharan karte hain

शिव जो धारण करते हैं, उनके व्यापक अर्थ हैं :– जटाएं : ——-शिव की जटाएं अंतरिक्ष का प्रतीक हैं। चंद्र :—–चंद्रमा मन का प्रतीक है। शिव का मन चांद की

5 Shivlings which are continuously increasing5 Shivlings which are continuously increasing

निरंतर बढ़ रहे है ये 5 शिवलिंग…… पूरी दुनिया में करोड़ों शिवलिंग हैं, सभी की अपनी मान्यता और महत्व है। कुछ शिवलिंग अपने इतिहास के कारण प्रसिद्ध हैं तो कुछ

Story of Shree Kedarnath 5 December 2020Story of Shree Kedarnath 5 December 2020

केदारनाथ इतिहास एवं जानिए धरती पर क्यों आए भगवान शिव〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️हिमालय ‘देवभूमि’ है। सौंदर्य भरी वादियों से घिरे केदारनाथ की यात्रा स्वत: आनंद का स्रोत है। चहुं ओर मनोहारी दृश्य देख

History of Shree Somnath TempleHistory of Shree Somnath Temple

सोमनाथ मंदिर का इतिहास🔸🔸🔹🔸🔸🔹🔸🔸हमेशा विदेशियों के निशाने पर रहा यह पवित्र सोमनाथ मंदिर 1 👉 12 ज्योतिर्लिंगों में सर्वप्रथमसोमनाथ मंदिर एक महत्वपूर्ण हिन्दू मंदिर है, जिसकी गिनती 12 ज्योतिर्लिंगों में

Story of Bhagwan Shiv and KamdevStory of Bhagwan Shiv and Kamdev

कामदेव और भगवान शिव की कथा,,,〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️सतीजी ने जो दक्ष के यज्ञ में देह का त्याग किया था, उन्होंने अब हिमाचल के घर जाकर जन्म लिया है॥ उन्होंने शिवजी को पति

Pravachan 4 December 2020Pravachan 4 December 2020

कामना रहित कर्म है मोक्ष का द्वारसंसार में आवागमन रोकने के लिए कर्म बीज को नष्ट करना बहुत आवश्यक है। जिसने अपने कर्मों को नष्ट कर लिया है उसका संसार

Shree Ratneshwar Mahadev Mandir KashiShree Ratneshwar Mahadev Mandir Kashi

🕉सनातन धर्म का इतिहास जानो🕉 🚩पीसा विश्व धरोहर से भी ज्यादा झुका है वाराणसी का यह मंदिर 🛕रत्नेश्वर महादेव मंदिर (मातृऋण मंदिर) , काशी ♦️अहिल्याबाई के कार्यकाल में उनकी दासी