Lemon cures Pimples 9 March 2021

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए बेहद कारगार है ‘नींबू’,
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
अगर आप मुहांसों की समस्या से परेशान हैं तो इससे छुटकारा पाने के लिए नींबू बेहद कारगर है। यह कहना है त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ आकृति मेहरा का। डॉ मेहरा ने नींबू के रस के इस्तेमाल से मुहांसों को दूर करने के लिए कुछ टिप्स दिए हैं।

नींबू का रस : 👉एक कटोरी में नींबू का रस लें। उसमें रूई का फोहा डुबोकर अतिरक्त रस निचोड़ लें और इसे मुहांसों से प्रभावित स्थान पर लगाएं। इसे त्वचा पर 10 मिनट लगा रहने दें। उसके बाद इसे पानी से धो लें और साफ तौलिए से थपथपा कर पोछें। इस प्रक्रिया को हर रोज दिन में दो बार दोहराएं।

नींबू का रस और शहद : 👉एक कटोरी में नींबू का रस और शहद लें और अच्छी तरह मिलाएं। इस मिश्रण को मुहांसों से प्रभावित स्थान पर लगाएं और पांच मिनट के लिए छोड़ दें। उसके बाद पानी से साफ करके तौलिए से थपथपा कर पोंछें। इस उपचार को दिन में एक बार करें।

नींबू और अंडे का सफेद भाग :👉 एक अंडा लें और उसका सफेद हिस्सा अलग कर लें। इसमें दो चम्मच नींबू का रस मिलाएं और अच्छी तरह फेंटें। इस मिश्रण को तीन हिस्सों में बांटें। पहले भाग को त्वचा पर लगाएं और पांच से सात मिनट ऐसे ही रहने दें। उसके बाद दूसरा भाग उसके ऊपर लगाएं। पांच से सात मिनट के बाद त्वचा पर तीसरे हिस्से की परत लगाएं। पांच से सात मिनट के बाद इस हिस्से को गर्म पानी से धो लें और त्वचा को थपथपा कर पोंछें। इस उपचार को हर रोज करें।

नींबू और चना : 👉एक कटोरी में चने का पाउडर लें और उसमें नींबू का रस मिलाएं। इन्हें अच्छी तरह मिला कर पेस्ट बना लें। इसे मुहांसों से प्रभावित स्थान पर लगा कर कुछ मिनट के लिए छोड़ दें। उसके बाद इस हिस्से को गुनगुने पानी से धो लें और त्वचा को साफ तौलिए से पोंछ लें। अगर इसके बाद त्वचा में रूखापन महसूस हो तो मॉयश्चराइजर लगाएं। इस उपचार को हर रोज एक बार करें।

नींबू और दही : 👉एक कटोरी में नींबू का रस और दही लें और अच्छी तरह मिला लें। इस पेस्ट को प्रभावित स्थान पर लगाएं। कुछ मिनट ऐसे ही रहने दें और उसके बाद पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को हर रोज दोहराएं।

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 5 =

Related Posts

Sixth Sense 22 August 2020

Spread the love          Tweet     अदृश्य शक्ति एवं जगत को समझने का बेहतरीन माध्यम – छठवीं इंद्रियSixth Sense ………….१. छठवीं इंद्रिय क्या है ?छठवीं इंद्रिय अथवा सूक्ष्म-स्तरीय अनुभव की क्षमता का अर्थ है,

Remedies for Kidney problems

Spread the love          Tweet     मित्रों आज कल गुर्दे की बीमारी भी तेजी से फैल रही हैं यह अनियमित दिनचर्या और खान -पान का ही नतीजा है आइये आज जानते हैं किडनी रोग

Beri Beri disease details

Spread the love          Tweet     |🌷 बेरी बेरी रोग किस विटामिन की कमी से होता है ? यह रोग विटामिन B1 (थायमीन) की कमी से होता है। इस विटामिन यह हमारे नर्वस सिस्टम