Some Remedies for Constipation 23 January 2021

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जानिए क्यों आपका पेट नहीं हो पता अच्छे से साफ, और क्या होते है कब्ज के लक्षण और इसका इलाज

क्या होती है कब्ज की समस्या
जब रोगी को कब्ज होता है तो रोगी का मल बड़ी आंत तक पहुंचने से पहले ही सख्त हो जाता है व ये आंतों पर चिपक जाता है, जो सख्त होने के कारण बाहर नहीं निकल पाता है. इसमें बड़ी आंत के संकुचन और विमोचन का काम भी धीमा हो जाता है. मल बड़ी आंत के पहले ही सख्त अवस्था में होकर जब रुकता है तो इससे गैस की भी समस्या पैदा होने लगती है. कुछ रोगियों को गैस की समस्या से दिल का दर्द भी होता है.

कब्ज के लक्षण

कब्ज की समस्या होने पर रोगी को भूख कम लगती है. इसका मुख्य कारण यह है कि पूर्व में खाया हुआ खाना ही जब पचता नहीं है तो पेट हमेशा फूला हुआ रहता है व पेट में भारीपन रहता है. इसके अतिरिक्त मुंह से बदबू आना, सिरदर्द होना, मानसिक बैचेनी होना, थकान महसूस होने के अतिरिक्त अन्य कई दिक्कतें प्रारम्भ हो जाती है. यदि ये सभी लक्षण महसूस हों तो इसका उपचार करना बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है.

कब्ज के लिए घरेलू इलाज

१ .रोजाना प्रातः काल काला नमक व नींबू का रस मिलाकर खाने से कब्ज की समस्या नहीं होगी.

२ .शहद कब्ज के लिए सबसे बेहतर औषधि है. रात में सोने से पहले एक गिलास गुनगने पानी के साथ एक चम्मच शहद मिलाकर रोज सेवन करने से कब्ज में लाभ होता है.

३ .रात में 6-7 मुनक्का भिगोकर रोज प्रातः काल खाली पेट खाने से भी कब्ज की समस्या अच्छा हो जाती है.

४ .रात में सोने से पहले एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ पीने से प्रातः काल पेट साफ हो जाता है.

५ .कब्ज में अरण्डी का ऑयल भी बहुत ज्यादा लाभकारी होता है. सोने से पहले एक चम्मच अरण्डी का ऑयल एक गिलास गर्म दूध के साथ पीने से प्रातः काल पेट अच्छे से साफ हो जाता है.

६ .कब्ज दूर करने का सबसे बढ़िया उपचार है ईसबगोल. सोने से पहले दो चम्मच ईसबगोल दूध या पानी में लेने से कब्ज की समस्या दूर होती है. इसके अतिरिक्त चिया सीड को भी रात में भिगोकर सेवन किया जा सकता है.

७ .कब्ज के रोगियों को अधिक मात्रा में पपीते का सेवन करना चाहिए, इससे पेट जल्दी साफ होता है. पपीता गर्म तासीर का होता है, जो सरलता से पच जाता है व आंतों में मल को सख्त नहीं होने देता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − 8 =

Related Posts

Brahadeshwar Temple Tamilanadu

Spread the love          Tweet     आप बिना चूने, सीमेंट या मिट्टी का प्रयोग किए कितनी ऊंची दीवार उठा सकते है ? 10 फीट ? 15 या 20 फीट ? ये दीवार कितने दिनों

Ancient Science of Shivling and Jyotirlings

Spread the love          Tweet     •• भारत का रेडियो एक्टिविटी मैप उठा लें, हैरान हो जायेंगे ! भारत सरकार के न्युक्लियर रिएक्टर के अलावा सभी ज्योतिर्लिंगों के स्थानों पर सबसे ज्यादा रेडिएशन पाया

Ancient Science of Shivlings

Spread the love          Tweet     क्या शिवलिंग रेडियोएक्टिव होते हैं? हाँ १००% सच है!! भारत का रेडियो एक्टिविटी मैप उठा लें, हैरान हो जायेंगे! भारत सरकार के न्युक्लियर रिएक्टर के अलावा सभी ज्योतिर्लिंगों